HomeShare MarketZomato के शेयर एक ही दिन में 8% से अधिक गिरने के...

Zomato के शेयर एक ही दिन में 8% से अधिक गिरने के बावजूद दो हफ्तों में 40 फीसद चढ़े, आगे क्या होगा हाल

अपने निवेशकों को रुलाने वाला ऑनलाइन फूड डिलिवरी प्लेटफॉर्म Zomato का स्टॉक  शुक्रवार को 8 फीसद से अधिक टूटकर बंद हुआ। इसके बावजूद पिछले दो हफ्तों में करीब 40 फीसद का रिटर्न दिया है। बता दें जुलाई महीने में बुरी तरह क्रैश हुआ था। जिन निवेशकों ने भी कंपनी में दांव लगाया था, वो नुकसान में ही शेयर बेचकर निकल रहे थे।

आगे क्या करें निवेशक

अगर मार्केट एक्सपर्ट्स की राय की बात करें तो 19 में से 7 ने स्ट्रांग बाय और 9 ने खरीदने की सलाह दी है। वहीं दो ने होल्ड रखने को कहा है। ग्लोबल ब्रोकरेज हाउस जेफरीज ने जोमैटो के शेयरों पर बाय रेटिंग बनाए रखी है। ब्रोकरेज हाउस ने जोमैटो के शेयरों के लिए 100 रुपये का टारगेट प्राइस दिया है। ब्रोकरेज हाउस एंबिट ने भी जोमैटो के शेयरों को बाय रेटिंग दी है और कंपनी के शेयरों के लिए 103 रुपये का टारगेट प्राइस दिया है। पिछले दिनों कोटक इंस्टीट्यूशनल इक्विटीज ने कहा था कि जोमैटो (Zomato) के शेयरों के लिए सबसे खराब समय खत्म हो गया है। अब कंपनी के शेयरों में तेजी आने की उम्मीद है।

बता दें चालू वित्त वर्ष की अप्रैल-जून तिमाही में जोमैटो का कंसॉलिडेटेड नेट लॉस घटकर 185.7 करोड़ रुपये रहा है। एक साल पहले की समान अवधि में कंपनी का घाटा 356.2 करोड़ रुपये था। वहीं, मार्च 2022 तिमाही में जोमैटो को 359.7 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था। जून 2022 तिमाही में जोमैटो का कंसॉलिडेटेड रेवेन्यू 16 पर्सेंट घटकर 1414 करोड़ रुपये था। जून 2021 तिमाही में ऑनलाइन फूड डिलीवरी प्लैटफॉर्म का रेवेन्यू 844 करोड़ रुपये था। वहीं, मार्च 2022 तिमाही में यह 1212 करोड़ रुपये था। वित्त वर्ष 2023 की पहली तिमाही में कंपनी की ग्रॉस ऑर्डर वैल्यू बढ़कर 6,430 करोड़ रुपये रही है।

डिस्‍क्‍लेमर: यहां सिर्फ शेयर के परफॉर्मेंस की जानकारी दी गई है, यह निवेश की सलाह नहीं है। शेयर बाजार में निवेश जोखिमों के अधीन है और निवेश से पहले अपने एडवाइजर से परामर्श कर लें।

RELATED ARTICLES

Most Popular