HomeShare Markete-SHRAM कार्डधारकाें की संख्या 27 करोड़ के पार, सरकारी योजनओं का लेना...

e-SHRAM कार्डधारकाें की संख्या 27 करोड़ के पार, सरकारी योजनओं का लेना है लाभ तो कराएं रजिस्ट्रेशन

ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराने वाले असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों की संख्या 27 करोड़ के पार पहुंच गई है।  ई-श्रम पोर्टल पर अब तक 27 करोड़ 09 लाख 39 हजार 540  लोगों ने रजिस्ट्रेशन कराया है और इन्हें ई-श्रमिक कार्ड जारी हो चुके हैं। 

बता दें भारत सरकार ने संपूर्ण भारत के  मजदूर परिवारों के लिए ई-श्रम कार्ड योजना का शुभारंभ किया है। इसके माध्यम से यूपी में गरीब मजदूर परिवारों को एक हजार रुपया महीना भत्ता एवं दो लाख रुपया दुर्घटना बीमा मिल रहा है।  ई-श्रम कार्ड को श्रम एवं रोजगार मंत्रालय द्वारा भारत के गरीब मजदूर परिवारों को केंद्र सरकार की सभी योजनाओं का सीधा लाभ देने के लिए शुरू किया गया है। इसके अंतर्गत निर्माण श्रमिक, प्रवासी श्रमिक और प्लेटफार्म श्रमिक, स्ट्रीट वेंडर, घरेलू श्रमिक, कृषि श्रमिक आदि सहित सभी असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों का केंद्रीकृत डेटाबेस का निर्माण करना और श्रमिकों को उनके कौशल के अनुसार रोजगार प्रदान करना मुख्य उद्देश्य है।

यूपी में रजिस्ट्रेशन संख्या 8.26 करोड़ पार

संबंधित खबरें

अगर राज्यों की बात करें तो योगी सरकार द्वारा श्रमिकों को हर महीने 500 रुपये देने की घोषणा के बाद रजिस्ट्रेशन की ऐसी बाढ़ आई कि यहां संख्या 8 करोड़ से अधिक हो गई है। दूसरे स्थान पर बिहार हैं जहां अब तक 28025137 लोगों को श्रमिक कार्ड जारी हो चुके हैं। वेस्ट बंगाल में अबतक 2.53 करोड़, मध्य प्रदेश में 1.56 करोड़, ओडिशा में 1.32 करोड़, राजस्थान में 1.19 करोड़ और महाराष्ट्र में 1.17 करोड़ से अधिक लोगों को ई-श्रम कार्ड मिल चुका है। लक्षद्वीप में सबसे कम केवल 752 लोगों को ई-श्रमिक कार्ड मिले हैं। 

अगर पूरे देश में जातिगत आधार पर देखें तो  ई-श्रमिक कार्ड पाने वालों में ओबीसी 45.37 फीसद, सामान्य वर्ग के कामगार 25.54 फीसद, एससी 21.01फीसद और एसटी 8.08 फीसद हैं। महिलाओं की बात करें तो सबसे ज्यादा 52.78 फीसद महिलाओं ने ई-श्रम पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन कराया है। वहीं, पुरुषों का प्रतिशत 47.22 है।

PM Kisan Latest Update: पीएम किसान की 11वीं किस्त बिना eKYC के मिलेगी या नहीं, जानें यहां

इनमें से सबसे ज्यादा पंजीकरण कृषि से जुड़े कामगारों की है। खेती-किसानी से जुड़े 14 करोड़ से अधिक लोगों को ई-श्रमिक कार्ड मिल चुका है। वहीं दूसरे नंबर पर करीब 3 करोड़ श्रमिक घरेलू और घरेलू कामगार से आते हैं। इसके बाद 2.4 करोड़ श्रमिक निमार्ण कार्य वाले हैं। 

कौन बनवा सकता ई-श्रमिक कार्ड

 हर दुकान का नौकर / सेल्समैन / हेल्पर, ऑटो चालक, ड्राइवर, पंचर बनाने वाला,  चरवाहा, डेयरी वाले, सभी पशुपालक, पेपर का हॉकर,  जोमैटो स्विगी के डिलीवरी बॉय, अमेज़न फ्लिपकार्ट के डिलीवरी बॉय  (कूरियर वाले), नर्स, वार्डबॉय, आया,  ट्यूटर, घर का नौकर – नौकरानी (काम वाली बाई), खाना बनाने वाली बाई (कुक), सफाई कर्मचारी, गार्ड,  ब्यूटी पार्लर की वर्कर, नाई, मोची, दर्ज़ी ,बढ़ई , प्लम्बर, बिजली वाला (इलेक्ट्रीशियन), पोताई वाला (पेंटर), टाइल्स वाला, वेल्डिंग वाला, खेती वाले मज़दूर, नरेगा मज़दूर, ईंट भट्ठा के मज़दूर, पत्थर तोड़ने वाले, खदान मज़दूर, फाल्स सीलिंग वाला, मूर्ती बनाने वाले, मछुवारा, रेजा, कुली, रिक्शा चालक, ठेला में किसी भी प्रकार का सामान बेचने वाला (वेंडर), चाट ठेला वाला, भेल वाला, चाय वाला, होटल के नौकर/वेटर, रिसेप्शनिस्ट, पूछताछ वाले क्लर्क, ऑपरेटर,  मंदिर के पुजारी,  विभिन्न सरकारी ऑफिस के दैनिक वेतन भोगी यानी वास्तव में आपके आसपास दिखने वाले प्रत्येक कामगार का यह कार्ड बन सकता है।

ई-श्रम कार्ड रजिस्ट्रेशन आवश्यक दस्तावेज
1. आधार कार्ड
2. पैन कार्ड
3. पासपोर्ट साइज फोटो
4. मोबाइल नंबर
5. बैंक खाता विवरण

ई-श्रम कार्ड रजिस्ट्रेशन के प्रमुख फायदे 2022 :- ई-श्रमिक कार्ड ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन कराने के महत्वपूर्ण फायदे के बारे में नीचे अवलोकन कर सकते हैं:-

  • भारत सरकार की महत्वपूर्ण कल्याणकारी योजनाओं का लाभ मिलेगा।
  • ई-श्रमिक 1000 रुपया भत्ता महीना।
  • ई-श्रम कार्ड धारक को 2 लाख रुपये का दुर्घटना बीमा मिलेगा।
  • सरकार की ओर से श्रमिकों के लिए लाई जाने वाली किसी भी सुविधा का सीधा लाभ मिल सकेगा।
  • भविष्य में पेंशन की सुविधा मिल सकती है।
  • स्वास्थ्य इलाज में आर्थिक सहायता मिलेगा।
  • गर्भवती महिलाओं को अपने बच्चों के भरण-पोषण के लिए उचित सुविधा दिया जावेगा।
  • मकान निर्माण में सहायता के तौर पर धनराशि प्रदान किया जावेगा।
  • बच्चे की पढ़ाई में आर्थिक सहायता प्रदान किया जावेगा।
  • केंद्र एवं राज्य सरकार की सभी सरकारी योजनाओं का सीधा लाभ मिलेगा।
  • RELATED ARTICLES

    Most Popular