HomeShare MarketBSNL में हिस्सेदारी बेचने को लेकर सरकार का बड़ा बयान, जानिए क्या...

BSNL में हिस्सेदारी बेचने को लेकर सरकार का बड़ा बयान, जानिए क्या कहा? 

BSNL Disinvestment: सरकारी टेलीकॉम कंपनी (Telecom company) भारत संचार निगम लिमिटेड यानी बीएसएनएल (BSNL) के विनिवेश को लेकर सरकार की तरफ से बड़ा बयान सामने आया है। सरकार बीएसएनएल के डिसइनवेस्टमेंट को लेकर कोई विचार नहीं कर रही है। दरअसल, संचार मंत्रालय (Ministry of Communications) ने लोकसभा में कहा कि सरकार के स्वामित्व वाली टेलीकॉम कंपनी BSNL के विनिवेश (disinvestment) की कोई योजना नहीं है। 

इस सवाल के जवाब में दिया गया बयान 
दरअसल, लोकसभा में डीएमके सांसद डीएम कथिर आनंद ने सवाल किया कि क्या बीएसएनएल के विनिवेश के लिए कंपनी की संपत्ति को ध्यान में रखा जाएगा तो संचार राज्य मंत्री देवुसिंह चौहान ने जवाब दिया, “बीएसएनएल के विनिवेश के लिए अभी कोई योजना नहीं है।”सरकार से भवन, जमीन, टावर और दूरसंचार उपकरण समेत देश में बीएसएनएल की अचल संपत्तियों का पूरा डाटा मांगा गया।

यह भी पढ़ें- अडानी पावर में होगा इन 6 कंपनियों का विलय, बोर्ड की मंजूरी मिलते ही राॅकेट बने कंपनी के शेयर

बीएसएनएल के पास संपत्ति
मंत्रालय के मुताबिक, बीएसएनएल के सभी सर्किलों में 3266 भवन, 1388 टावर और सैटेलाइट, 21042 टेलीकॉम  इक्विपमेंट और 686 नाॅन-टेलीकॉम इक्विपमेंट हैं। टेलीकॉम  इक्विपमेंट में प्लांट, केबल, कंप्यूटर सर्वर, स्थापना परीक्षण उपकरण, लाइनें और तार, ग्राहक स्थापना शामिल हैं। जबकि नाॅन-टेलीकॉम इक्विपमेंट में कंप्यूटर-एंड उपयोगकर्ता उपकरण, विद्युत फिटिंग, फर्नीचर और जुड़नार, मोटर वाहन और लॉन्च शामिल हैं। 

नुकसान में कंपनी
बीएसएनएल का घाटा 2018-19 में दोगुना होकर 2017-18 से लगभग 15,000 करोड़ रुपये हो गया। 2017-18 में इसने 7,993 करोड़ रुपये और 2016-17 में 4,793 करोड़ रुपये का घाटा दर्ज किया। कंपनी को 2019-20 में 15,499.58 करोड़ रुपये का घाटा हुआ था।
31 मार्च, 2021 को समाप्त हुए वित्तीय वर्ष में समेकित नुकसान को घटकर 7,441.11 करोड़ रुपये हो गया। बीएसएनएल के एक अधिकारी ने कहा, “मुख्य रूप से 78,569 कर्मचारियों द्वारा स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति के कारण कर्मचारियों के वेतन में कमी के कारण नुकसान में कमी आई है।” 

यह भी पढ़ें- मुकेश अंबानी और गौतम अडानी में छिड़ेगी एक और ‘जंग’ अब इस सेक्टर में दोनों खेलना चाह रहे बड़ा दांव

27,033.6 करोड़ रुपये का कर्ज
वित्त वर्ष 2021 के दौरान बीएसएनएल की कुल संपत्ति घटकर 51,686.8 करोड़ रुपये रह गई, जो पिछले वर्ष 59,139.82 करोड़ रुपये थी। कंपनी का बकाया कर्ज वित्त वर्ष 2020-21 में बढ़कर 27,033.6 करोड़ रुपये हो गया, जो वित्त वर्ष 2019-20 में 21,674.74 करोड़ रुपये था।

RELATED ARTICLES

Most Popular