HomeShare Market20 पैसे से ₹386 पर पहुंचा यह शेयर, कंपनी के रिजल्ट के...

20 पैसे से ₹386 पर पहुंचा यह शेयर, कंपनी के रिजल्ट के बाद आज भी भर रहा उड़ान

ऐप पर पढ़ें

22 साल पहले जिस बायोटेक्नोलॉजी कंपनी  के एक शेयर की कीमत महज 20 पैसे थी, वह आज 386 रुपये पर पहुंच गई है। यह स्टॉक अपने जीवन काल में 3667 फीसद उछला है, तब (14 जुलाई 1995) इसकी कीमत 10.10 रुपये थी। जबकि, 17 सितंबर 2001 को यह लुढ़क कर 20 पैसे तक आ गया था। हम बात कर रहे हैं Praj Industries Ltd की।

बीएसई पर शुरुआती कारोबार में Praj Industries के शेयर की कीमत कंपनी के मजबूत मार्च तिमाही के स्कोरकार्ड की वजह से 8 फीसद से अधिक बढ़ गई। स्टॉक 356.80 के पिछले बंद के मुकाबले ₹376.10 पर खुला और 8 फीसद से अधिक उछलकर 386.50 के स्तर पर पहुंच गया। स्टॉक ने 11 अक्टूबर, 2022 को ₹461.50 के अपने 52-सप्ताह के उच्च स्तर को छुआ।

25 मई को बीएसई फाइलिंग में कंपनी ने बताया है कि चौथी तिमाही के लिए टैक्स (PAT) के बाद उसका कांसॉलिडेटेड मुनाफा ₹88.12 करोड़ था, जो साल-दर-साल (YoY) 53 फीसद बढ़कर Q4 में ₹57.65 करोड़ हो गया। समीक्षाधीन तिमाही के लिए परिचालन से आय ₹1,003.98 करोड़ रही, जो वित्त वर्ष 22 की चौथी तिमाही में ₹830.96 करोड़ के मुकाबले 21 फीसद अधिक है।

इस छोटे शेयर का बड़ा कमाल, अडानी एंटरप्राइजेज से 8 गुना सस्ता, लेकिन रिटर्न दिया दोगुना

कंपनी के ऑपरेटिंग EBITDA में 38.8 फीसद की वृद्धि हुई है और अब यह 108.3 करोड़ रुपये हो गया। कंपनी के निदेशक मंडल ने वित्तीय वर्ष 2023 के लिए ₹2 प्रति इक्विटी शेयर के फेस वैल्यू के 225 फीसद के रेट से ₹4.50 प्रति इक्विटी शेयर का अंतिम डिविडेंड देने का ऐलान किया है। प्राज इंडस्ट्रीज के सीईओ और एमडी शिशिर जोशीपुरा ने कहा, हम अपने सभी हितधारकों की अपेक्षाओं को पूरा करने के लिए आश्वस्त हैं, क्योंकि हम अपनी सतत यात्रा पर आगे बढ़ते हैं।

इंडियन ऑयल से मिलाया हाथ

कंपनी ने कहा है कि उसके बोर्ड ने विभिन्न प्रकार के जैव ईंधन के उत्पादन के लिए इंडियन ऑयल कॉरपोरेशन (IOCL) के साथ एक संयुक्त उद्यम (JV) के गठन के लिए सैद्धांतिक मंजूरी दे दी है। सस्टेनेबल एविएशन फ्यूल (SAF) का उत्पादन इस संयुक्त उद्यम की पहली परियोजना होने की संभावना है। कंपनी ने ‘स्वदेशी’ सस्टेनेबल एविएशन फ्यूल (SAF) के मिश्रण से संचालित भारत में पहली कॉमर्शियल उड़ान भरने के लिए एयरएशिया इंडिया और IOCL के साथ हाथ मिलाया। एटीएफ में मिश्रित एसएएफ को प्राज द्वारा स्वदेशी फीडस्टॉक का उपयोग करके गेवो, इंक यूएसए के साथ अपने संबंधों का लाभ उठाते हुए तैयार किया गया था। कंपनी ने कहा कि आईओसीएल पानीपत 2जी संयंत्र सफलतापूर्वक चालू हो गया है और पहला एथनॉल निकल चुका है।

RELATED ARTICLES

Most Popular