HomeShare Market12 में से 10 सरकारी बैंकों के शेयर रिकॉर्ड हाई पर पहुंचे,...

12 में से 10 सरकारी बैंकों के शेयर रिकॉर्ड हाई पर पहुंचे, FII लगा रहे बड़ा दांव!

ऐप पर पढ़ें

सरकारी बैंकों के शेयरों में अच्छी तेजी बनी हुई है। 12 पब्लिक सेक्टर बैंकों के शेयरों में से 10 बैंकों के शेयर इस महीने नए रिकॉर्ड हाई पर पहुंचे हैं। 3 सरकारी बैंकों के शेयरों ने साल 2022 में मल्टीबैगर रिटर्न दिया है। फॉरेन ब्रोकरेज हाउसेज ने हाल में सरकारी बैंकों के शेयरों को लेकर अपना रुख बदला है। एनालिस्ट्स का कहना है कि हाल के हफ्तों में सरकारी बैंकों में आई तेजी के पीछे फॉरेन इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टर (FII) का हाथ हो सकता है। यह बात इकनॉमिक टाइम्स की एक रिपोर्ट में कही गई है। 

1 महीने में 71% चढ़ गए पंजाब एंड सिंध बैंक के शेयर
पिछले एक महीने में पंजाब एंड सिंध बैंक के शेयरों में करीब 71 पर्सेंट की तेजी आई है। वहीं, यूको बैंक (Uco Bank) और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के शेयरों में पिछले एक महीने में क्रमशः 55 पर्सेंट और 51 पर्सेंट की तेजी आई है। वहीं, बैंक ऑफ इंडिया (BoI) और सेंट्रल बैंक ऑफ इंडिया के शेयर पिछले एक महीने में क्रमशः 41 पर्सेंट और 39.5 पर्सेंट चढ़े हैं। वहीं, बैंक ऑफ बड़ौदा (BoB), इंडियन बैंक और यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के शेयरों ने इस साल अब तक इनवेस्टर्स की दौलत दोगुनी से ज्यादा कर दी है। परफॉर्मेंस की दौड़ में थोड़ा पीछे रहने वाले इंडियन ओवरसीज बैंक के शेयरों ने भी 25 पर्सेंट से ज्यादा का रिटर्न दिया है। 

यह भी पढ़ें- राहत की खबरः RBI के कंट्रोल में आई महंगाई! रिटेल इनफ्लेशन घटकर 5.88% पर

विदेशी ब्रोकरेज हाउस ने बदला अपना रुख
स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) और केनरा बैंक के शेयरों ने पिछले महीने अपना 52 हफ्ते का नया हाई बनाया। वहीं, दूसरे सरकारी बैंकों के शेयरों ने इस महीने ही 52 हफ्ते का नया हाई बनाया है। पिछले कुछ हफ्ते से कई विदेशी ब्रोकरेज हाउसेज सरकारी बैंक स्टॉक्स का ‘गुणगान’ कर रहे हैं। मॉर्गन स्टैनेली ने बैंक ऑफ इंडिया का टारगेट प्राइस 125 रुपये दिाय है। वहीं, बैंक ऑफ बड़ौदा (BoB) के शेयरों को 220 रुपये का टारगेट दिया है। विदेशी ब्रोकरेज हाउस क्रेडिट सुइस ने स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के शेयरों को 730 रुपये का और बैंक ऑफ बड़ौदा (BoB) के शेयरों को 220 रुपये का टारगेट दिया है। वीकेंड में जेपी मॉर्गन ने पंजाब नेशनल बैंक (PNB) पर अपनी रेटिंग को अंडरवेट से अपग्रेड करके ओवरवेट कर दिया है और 72 रुपये का टारगेट प्राइस दिया है।  

यह भी पढ़ें- कर्ज में डूबी इस कंपनी की किस्मत बदलेगा डालमिया ग्रुप, अडानी से टक्कर 
ग्लोबल ब्रोकरेज हाउसेज की बढ़ती दिलचस्पी के बीच एनालिस्ट्स का मानना है कि हो सकता है कि फॉरेन इंस्टीट्यूशनल इनवेस्टर्स सरकारी बैंकों के शेयर खरीद रहे हों। इकनॉमिक टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक, FII ने अकेले नवंबर में फाइनेंशियल सर्विसेज सेक्टर में 14205 करोड़ रुपये के शेयर खरीदे हैं।  

डिस्क्लेमर: यहां सिर्फ शेयर के परफॉर्मेंस की जानकारी दी गई है, यह निवेश की सलाह नहीं है। शेयर बाजार में निवेश जोखिम के अधीन है और निवेश से पहले अपने एडवाइजर से परामर्श कर लें।

RELATED ARTICLES

Most Popular