HomeShare Marketराकेश झुनझुनवाला के इस पसंदीदा स्टॉक ने दोगुना कर दिया पैसा, क्या...

राकेश झुनझुनवाला के इस पसंदीदा स्टॉक ने दोगुना कर दिया पैसा, क्या आपके पोर्टफोलियो में है यह शेयर

भारत के वॉरेन बफेट कहे जाने वाले दिग्गज निवेशक राकेश झुनझुनवाला के पोर्टफोलियो में शामिल इंडियन होटल्स ने पिछले एक साल में निवेशकों को 100 फीसद से ज्यादा रिटर्न दिया है। पिछली तिमाही में बिग बुल और उनकी पत्नी रेखा झुनझुनवाला के पास 2.99 करोड़ शेयर यानी 2.12 फीसद हिस्सेदारी थी। मार्च तिमाही में झुनझुनवाला के पास 1.11 फीसद या 1.57 करोड़ शेयर थे, जबकि उनकी पत्नी रेखा के पास 1.01 फीसद या 1.42 करोड़ शेयर थे।

बता दें इंडियन होटल्स अल्पकालिक आवास गतिविधियों, और रेस्तरां और मोबाइल खाद्य सेवा गतिविधियों में लगा हुआ है। कंपनी मुख्य रूप से ताज, सेलेक्शंस, विवांता, द गेटवे, जिंजर, एक्सप्रेशन्स, अमा स्टेज़ एंड ट्रेल्स और ताजसैट्स सहित विभिन्न ब्रांडों के तहत होटल, महलों और रिसॉर्ट्स के स्वामित्व, संचालन और प्रबंधन के व्यवसाय में लगी हुई है। टाटा समूह की आतिथ्य शाखा गोल्डन ड्रैगन, वसाबी बाय मोरिमोटो, थाई पवेलियन, हाउस ऑफ मिंग और शामियाना ब्रांडों के तहत रेस्तरां, खाद्य और पेय व्यवसाय भी संचालित करती है।

टॉप-15 अरबपतियों में से केवल गौतम अडानी की बढ़ी कमाई, एक ही दिन में मस्क समेत 14 ने 68 अरब डॉलर की संपत्ति गंवाई

2022  की मार्च तिमाही में कंपनी के प्रमोटरों की होल्डिंग 41.02 फीसद से गिरकर 38.19 फीसद हो गई है। एफआईआई/एफपीआई ने मार्च 2022 तिमाही में अपनी हिस्सेदारी 15.19 फीसद से बढ़ाकर 16.03 फीसद कर दी है।

संबंधित खबरें

पिछली तिमाही में विदेशी निवेशकों की संख्या 227 से बढ़कर 267 हो गई। म्युचुअल फंडों ने दिसंबर तिमाही में अपनी हिस्सेदारी 18.08 फीसद से बढ़ाकर मार्च तिमाही में 21.43 फीसद कर ली। मार्च 2022 तिमाही में स्टॉक रखने वाली एमएफ योजनाओं की संख्या 23 से बढ़कर 27 हो गई।

संस्थागत निवेशकों ने भी दिसंबर तिमाही में अपनी हिस्सेदारी 40.49 फीसद से बढ़ाकर मार्च तिमाही में 44.67 फीसद कर दी। इस बीच, इंडियन होटल्स 2.89 फीसद तक गिरकर 5 मई को 250.20 रुपये पर बंद हुआ, जो पिछले 257.65 रुपये था। स्टॉक में एक साल में 129 फीसद  की वृद्धि हुई और 2022 में 35.83 फीसद  की वृद्धि हुई। एनएसई पर कंपनी का मार्केट कैप गिरकर 35538 करोड़ रुपये पर आ गया।

स्टॉक 4 मई, 2022 को 52-सप्ताह के उच्च 268.85 रुपये और 5 मई, 2021 को 52-सप्ताह के निचले स्तर 106.35 रुपये पर पहुंच गया। आज यह स्टॉक 243 रुपये तक आ गया था।

31 मार्च, 2022 को समाप्त चौथी तिमाही में इंडियन होटल्स का शुद्ध लाभ 181 फीसद बढ़कर 74.19 करोड़ रुपये हो गया, जो एक साल पहले इसी तिमाही में 91.30 करोड़ रुपये का घाटा था। पिछले वित्त वर्ष की चौथी तिमाही में बिक्री 41.80 फीसद बढ़कर 872.08 करोड़ रुपये हो गई, जो पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 615 करोड़ रुपये थी।

अन्य आय को छोड़कर परिचालन लाभ मार्च तिमाही में 123 फीसद बढ़कर 159 करोड़ रुपये हो गया, जो वित्त वर्ष 2015 की चौथी तिमाही में 71.31 करोड़ रुपये था।

वार्षिक आधार पर, इसका घाटा पिछले वित्त वर्ष में 65.60 फीसद घटकर 247.72 करोड़ रुपये हो गया, जो मार्च 2021 के वित्तीय वर्ष में 720.11 करोड़ रुपये था। 28 अप्रैल को आईसीआईसीआई सिक्योरिटीज ने इंडियन होटल्स के शेयर के लिए 292 रुपये का टारगेट प्राइस दिया था। कॉल की समय अवधि एक वर्ष है।

 

RELATED ARTICLES

Most Popular