HomeShare Marketयहां मिल रहा है फिक्सड डिपॉजिट पर SBI और पोस्ट ऑफिस से...

यहां मिल रहा है फिक्सड डिपॉजिट पर SBI और पोस्ट ऑफिस से ज्यादा ब्याज, चेक करें डीटेल्स 

फिक्सड डिपाॅजिट एक ऐसा निवेश है जिसमें रिटर्न की गारंटी रहती है। यही वजह है कि आज के समय में भी बड़ी संख्या में लोग एफडी में निवेश करते है। बैंक ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए समय-समय पर एफडी की दरों में बदलाव करते रहते हैं। श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस कंपनी (Shriram Transport Finance Company) ने एफडी की दरों में बदलाव किया है। बैंक की नई दरें 10 अगस्त 2022 से प्रभावी रहेंगी। 

यह भी पढ़ेंः 3-4 वीक में 200 रुपये तक जा सकता है यह शेयर, अभी दांव लगाने से होगा मुनाफा, एक्सपर्ट ने कहा- खरीदो

पोस्ट ऑफिस से ज्यादा मिलेगा ब्याज 

फिक्सड डिपाॅजिट (Fixed Deposit) की नई दरें बढ़ने के बाद अब श्रीराम ट्रांसपोर्ट फाइनेंस कंपनी के ग्राहकों को पोस्ट ऑफिस की तुलना में ज्यादा ब्याज मिलेगा। बैंक ने अपने नए संशोधन में कहा है कि अब ग्राहकों अलग-अलग टेन्यौर पर 0.25% से 0.50% तक अधिक ब्याज मिलेगा। बैंक की तरफ से सामान्य ग्राहकों को 60 महीने की एफडी पर अधिकतम 8.25% और सीनियर सिटीजन को अधिकतम 8.75% ब्याज मिलेगा। 

पोस्ट ऑफिस की चर्चित स्कीम किसान विकास पत्र, पीपीएफ, सुकन्या समृद्धि योजना, नेशनल सेविंग सर्टिफिकेट, नेशनल सेविंग मंथली इनकम अकाउंट, नेशनल सेविंग टाइम डिपोजिट जैसी योजनाओं से अधिक ब्याज यहां मिलेगा। लेकिन ध्यान रखना होगा कि यह DICGC इंश्योर्ड नहीं है। 

SBI की एफडी पर मिल रहा है कितना ब्याज 

1- बैंक के मुताबिक 7 दिनों से 45 दिनों में मैच्योर होने वाली डिपॉजिट पर बैंक 3.50 प्रतिशत की ब्याज दर देना जारी रखेगा। वहीं, 46 दिनों से 179 दिनों में मैच्योर होने वाली डिपॉजिट पर 4 प्रतिशत की ब्याज दर है। इसके अलावा 180 दिनों से 210 दिनों तक मैच्योर होने वाली डिपॉजिट पर, एसबीआई 4.25 प्रतिशत की ब्याज दर देना जारी रखेगा। 

2- इसी तरह, 211 दिनों से एक वर्ष से कम समय में मैच्योर होने वाली डिपॉजिट पर ब्याज दर 4.50 प्रतिशत पर स्थिर है। वहीं, 1 साल से 2 साल से कम समय में मैच्योर होने वाली डिपॉजिट पर अब 5.25% की ब्याज दर मिलेगी जो पहले 4.75% बढ़ोतरी थी।

3- बैंक 2 साल से 3 साल से कम अवधि में मैच्योर होने वाली डिपॉजिट पर 4.25 फीसदी और 3 साल और 10 साल तक मैच्योर होने वाली डिपॉजिट पर 4.50 फीसदी की दर से ब्याज देना जारी रखेगा।

RELATED ARTICLES

Most Popular