HomeShare Marketमहंगाई की आग में घी डाल रहा पॉम आयल, इंडोनेशिया के इस...

महंगाई की आग में घी डाल रहा पॉम आयल, इंडोनेशिया के इस ऐलान से कीमतों में उछाल

महंगाई की आग में जल रहे भारतीय बाजार में इंडोनेशिया का पाम ऑयल घी का काम कर रहा है। बाजार पहले ही कोविड के बाद के दौर में शादियों के सीज़न में महंगाई की मार झेल रहा है। ऐसे में इंडोनेशिया के एक कदम के बाद भारत में इसकी कीमतें आसमान छू रही हैं।

बता दें इंडोनेशिया के राष्ट्रपति जोको विडोडो के एक ऐलान के बाद  कुआलालंपुर में पाम तेल का जुलाई डिलीवरी वायदा 6% बढ़कर 6,738 रिंगित ($1,550) प्रति टन हो गया।  विडोडो ने ऐलान किया है कि 28 अप्रैल से पामोलिन यानी पाम ऑयल और इसके कच्चे माल के निर्यात पर रोक लगाएंगे। पाम ऑयल के निर्यात पर लगी रोक अगले फैसले तक लागू रहेगी।

शैंपू से लिपस्टिक तक पर पड़ेगा असर

संबंधित खबरें

एक वीडियो संदेश में राष्ट्रपति जोको विडोडो ने शुक्रवार को कहा कि उनका उद्देश्य देश में खाने के सामान की उपलब्धता सुनिश्चित करना है। बता दें इंडोनेशिया में वैश्विक पाम तेल आपूर्ति का लगभग 60% हिस्सा है। यहां बड़े पैमाने पर पाम की खेती होती है। पाम ऑयल के उत्पादन के मामले में दुनिया का सबसे बड़ा निर्यातक इंडोनेशिया स्थानीय स्तर पर इसकी कमी से जूझ रहा है।  बता दें पाम से खाद्य तेल के अलावा डिटर्जेंट, शैंपू, टूथपेस्ट लेकर चॉकलेट, डोनट और लिपस्टिक तक में इसका इस्तेमाल होता है। 

इंडोनेशिया के पाम तेल पर अचानक निर्यात प्रतिबंध के बाद विश्लेषकों ने पैकेज्ड खाद्य पदार्थों और खाद्य तेलों सहित उत्पादों की आपूर्ति और कीमतों दोनों पर निकट अवधि के दबाव का संकेत दिया है। भारतीय बाजार पहले ही कोविड के बाद के दौर में रमज़ान और शादियों के सीज़न में महंगाई की मार झेल रहा है। ऐसे में इंडोनेशिया के कदम के बाद वहां खाने के तेल की कीमतें कम हो जाएंगी, लेकिन भारत में इसकी कीमतें आसमान छू सकती हैं। 

उद्योग के आंकड़ों के अनुसार, खाद्य तेल के उच्च शिपमेंट पर मार्च में वनस्पति तेल का आयात 13% बढ़कर 11 लाख टन से अधिक हो गया। सॉल्वेंट एक्सट्रैक्टर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया ने कहा कि मार्च 2022 में वनस्पति तेलों (खाद्य तेल और अखाद्य तेल सहित) का आयात मार्च 2021 में 9,80,243 टन की तुलना में 11,04,570 टन रहा।

अडानी ग्रुप की इन दो कंपनियों की उल्टी चाल, गिरते बाजार में उछल रहा शेयर भाव

मार्च 2022 में खाद्य तेल का आयात बढ़कर 10,51,698 टन हो गया, जो एक साल पहले की अवधि में 9,57,633 टन था, जबकि अखाद्य तेल का आयात समीक्षाधीन अवधि के दौरान 22,610 टन से बढ़कर 52,872 टन हो गया। तेल वर्ष 2021-22, नवंबर 2021-मार्च 2022 के पहले पांच महीनों के दौरान वनस्पति तेलों का कुल आयात पिछले वर्ष की इसी अवधि के दौरान 53,75,003 टन की तुलना में 57,95,728 टन दर्ज किया गया।

RELATED ARTICLES

Most Popular