HomeShare Marketमजबूत डिमांड के बीच बढ़ा गोल्ड इंपोर्ट, 6% से ज्यादा की तेजी...

मजबूत डिमांड के बीच बढ़ा गोल्ड इंपोर्ट, 6% से ज्यादा की तेजी के साथ पहुंचा 13 बिलियन डॉलर

सोने का आयात (गोल्ड इंपोर्ट) चालू वित्त वर्ष के अप्रैल-जुलाई पीरियड में 6.4 पर्सेंट बढ़कर 12.9 बिलियन डॉलर पहुंच गया है। घरेलू बाजार में मजबूत डिमांड के कारण सोने के इंपोर्ट में यह उछाल आया है। पिछले साल की समान अवधि के दौरान 12 बिलियन डॉलर का गोल्ड इंपोर्ट किया गया था। हालांकि, इस साल जुलाई में गोल्ड इंपोर्ट 43.6 पर्सेंट घटकर 2.4 अरब डॉलर का रहा है। यह बात कॉमर्स मिनिस्ट्री की तरफ से जारी किए गए लेटेस्ट डेटा में कही गई है। 

सोने और तेल के आयात ने बढ़ाया भारत का व्यापार घाटा
चालू वित्त वर्ष के पहले 4 महीने में गोल्ड और ऑयल इंपोर्ट में हुई बढ़ोतरी से रिकॉर्ड 30 बिलियन डॉलर का व्यापार घाटा हुआ है। जबकि वित्त वर्ष 2021 की समान अवधि में यह व्यापार घाटा 10.63 बिलियन डॉलर का था। भारत, पूरी दुनिया में चीन के बाद सबसे ज्यादा सोने का आयात करने वाला देश है। सोने का इंपोर्ट, मुख्य रूप से ज्वैलरी इंडस्ट्री की डिमांड को पूरा करता है। 

यह भी पढ़ें- इस बैंक ने भी बढ़ाए FD पर इंटरेस्ट रेट, अब ग्राहकों को मिलेगा पहले से तगड़ा रिटर्न

13.5 बिलियन डॉलर रहा जेम्स एंड ज्वैलरी एक्सपोर्ट
चालू वित्त वर्ष के पहले 4 महीने में जेम्स एंड ज्वैलरी का एक्सपोर्ट करीब 7 पर्सेंट बढ़कर 13.5 बिलियन डॉलर रहा। रिजर्व बैंक की तरफ से जून में रिलीज किए गए डेटा के मुताबिक, फाइनेंशियल ईयर 2021-22 में बड़े ट्रेड गैप के कारण देश का करेंट अकाउंट डेफिसिट, जीडीपी के 1.2 पर्सेंट पर पहुंच गया, जो कि FY21 में 0.9 पर्सेंट के सरप्लस पर था। जनवरी-मार्च 2022 तिमाही के दौरान करेंट अकाउंट डेफिसिट 13.4 बिलियन डॉलर रहा, जो कि अक्टूबर-दिसंबर 2021 तिमाही के दौरान 22.2 बिलियन डॉलर था।

यह भी पढ़ें-Bitcoin, Ether और Dogcoin फिर लुढ़कीं, शिबा इनु में 11% की गिरावट

RELATED ARTICLES

Most Popular