HomeShare Marketभारत के स्प्रिंग एनर्जी ग्रुप का अधिग्रहण करेगी यह कंपनी, 11,800 करोड़...

भारत के स्प्रिंग एनर्जी ग्रुप का अधिग्रहण करेगी यह कंपनी, 11,800 करोड़ रुपये का डील 

अमेरिकी एनर्जी कंपनी शेल पीएलसी (शेल) के पूर्ण स्वामित्व वाली सब्सिडियरी यूनिट शेल ओवरसीज इंवेस्टमेंट ने 1.55 अरब डॉलर यानी कि 11,800 करोड़ रुपये में सोलएनर्जी पावर प्राइवेट लिमिटेड के 100 फीसदी अधिग्रहण के लिए एक्टिस सोलएनर्जी लिमिटेड के साथ समझौता किया है।
सोलएनर्जी पावर प्राइवेट लिमिटेड मॉरीशस में गठित कंपनी है और भारत में कारोबार करने वाली स्प्रिंग एनर्जी ग्रुप ऑफ कंपनीज की डायरेक्ट शेयरधारक है।

पुणे में है हेडक्वार्टर
महाराष्ट्र के पुणे में स्प्रिंग एनर्जी का हेडक्वार्टर है। यह अधिग्रहण के बाद भी अपने मौजूदा ब्रांड को बरकरार रखेगी और शेल समूह की पूर्ण-स्वामित्व वाली सब्सिडियरी के तौर पर काम करेगी। इसका नियंत्रण शेल के रिन्यूएबल्स एंड एनर्जी सॉल्यूशंस इंटिग्रेटेड पावर के पास होगा। यह लेनदेन नियामकीय मंजूरी के अधीन है और इस साल के अंत तक इसके पूरा हो जाने की उम्मीद है।

यह भी पढ़ें- इस सप्ताह टाटा ग्रुप की यह कंपनी मुनाफा बांटने का करेगी ऐलान, स्टॉक स्प्लिट की भी हो सकती है घोषणा

क्या कहा कंपनी ने?
शेल के इंटीग्रेटेड गैस, रिन्यूएबल्स और एनर्जी सॉल्यूशंस के निदेशक वॉल सैवन ने शुक्रवार को एक प्रेस विज्ञप्ति में इस अधिग्रहण सौदे की जानकारी दी। उन्होंने कहा, ‘‘यह सौदा शेल को भारत में वास्तव में एकीकृत ऊर्जा अंतरण कारोबार करने वाली शुरुआती कंपनियों में से एक के रूप में स्थापित करता है।’’

संबंधित खबरें

यह भी पढ़ें- ₹530 पर जाएगा टाटा का यह स्टॉक, अभी दांव लगाने पर होगा मुनाफा, एक्सपर्ट ने कहा- खरीद लो

सैवन ने कहा, ‘‘स्प्रिंग एनर्जी के पास एक शानदार टीम, मजबूत एवं स्थापित ट्रैक रिकॉर्ड और एक स्वस्थ विकास पाइपलाइन है। स्प्रिंग एनर्जी की ताकत शेल इंडिया के समृद्ध ग्राहक-उन्मुख गैस एवं डाउनस्ट्रीम व्यवसायों के साथ मिलकर विकास के और भी अधिक अवसर पैदा कर सकती है।” विज्ञप्ति के अनुसार, इस अधिग्रहण सौदे के जरिये शेल को हासिल होने वाली सौर एवं पवन ऊर्जा संपत्तियां उसकी मौजूदा नवीकरणीय क्षमता को तीन गुना कर देंगी।

RELATED ARTICLES

Most Popular