HomeShare Marketबंद हो सकता है क्रिप्टो एक्सचेंज वज़ीरएक्स! ED की जांच के बाद...

बंद हो सकता है क्रिप्टो एक्सचेंज वज़ीरएक्स! ED की जांच के बाद Binance ने कहा- फंड ट्रांसफर कर लें

भारतीय डिजिलट करेंसी एक्सचेंज वज़ीरएक्स (WazirX) पर ED की छापेमारी और 64 करोड़ रुपये फ्रीज किए जाने के बाद अेमिरकी क्रिप्टो एक्सचेंज बायनेंस (Binance) ने वज़ीरएक्स को लेकर चेतावनी दी है। Binance के सीईओ चांगपेंग झाओ ने निवेशकों से अपने फंड को वज़ीरएक्स से बायनेंस में ट्रांसफर करने की अपील की है और कहा है कि वज़ीरएक्स क्रिप्टो एक्सचेंज बंद हो सकता है।

वज़ीरएक्स और बायनेंस में तानातनी
Binance के सीईओ चांगपेंग झाओ और वज़ीरएक्स क्रिप्टो एक्सचेंज के फाउंडर निश्चल शेट्टी रात भर ट्विटर पर आपस में भिड़ते रहे। शेट्टी ने दावा किया कि ‘वज़ीरएक्स को बायनेंस द्वारा अधिग्रहित किया गया था’। इस पर झाओ ने एक ट्वीट में जवाब दिया कि बायनेंस केवल वज़ीरएक्स को वॉलेट सर्विस देता है। उन्होंने कहा कि वज़ीरएक्स डोमेन को बायनेंस में ट्रांसफर कर दिया गया था और उनके पास अमेज़ॅन वेब सर्विसेज खाते तक पहुंच है, लेकिन उनके पास केवाईसी डेटा तक पहुंच नहीं है। झाओ ने कहा कि वजीरएक्स पर किसी भी तरह के एक्सचेंज, यूजर साइनअप, केवाईसी, ट्रेडिंग के लिए वजीरएक्स जिम्मेदार है। 

यह भी पढ़ें- नीलाम हो रहा है दिल्ली का ये फेमस शॉपिंग मॉल, ₹2900 करोड़ रखी गई है कीमत! जानिए क्या है मामला?

वज़ीरएक्स की 64 करोड़ रुपये की राशि जब्त 
आपको बता दें कि शुक्रवार को प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने देश के प्रमुख क्रिप्टो करेंसी एक्सचेंजों में से एक वज़ीरएक्स की बैंकों में जमा 64.67 करोड़ रुपये की राशि जब्त कर ली है।  ईडी ने इंस्टैंड लोन देने वाले एप्लिकेशन के खिलाफ चल रही मनी लाॅन्ड्रिंग जांच के तहत यह कार्रवाई की है।
एजेंसी ने शुक्रवार को कहा कि वजीरएक्स का मालिकाना हक रखने वाली कंपनी जनमई लैब प्राइवेट लिमिटेड के एक निदेशक समीर म्हात्रे के खिलाफ तीन अगस्त को छापे मारे गए थे। जांच एजेंसी ने कहा कि वह मांगी गई जानकारी साझा नहीं कर रहे थे और जांच में सहयोग भी नहीं कर रहे थे।

ईडी ने एक बयान में कहा कि एक्सचेंज और उसके अधिकारी भारतीय नियामक एजेंसियों द्वारा निगरानी या जांच से बचने के लिए विरोधात्मक और अस्पष्ट जवाब दे रहे थे।

एजेंसी ने पाया कि देश में मोबाइल ऐप के माध्यम से फंसाने वाले ऋण देने में शामिल कई वित्त प्रौद्योगिकी कंपनियों ने अधिकतम राशि वज़ीरएक्स एक्सचेंज में स्थांतरित कर दी है। साथ ही इस तरह खरीदी गई क्रिप्टो-परिसंपत्तियों को अज्ञात विदेशी खातों में स्थांतरित कर किया गया है।

ईडी ने वज़ीरएक्स पर असहयोगी व्यवहार करने के कम से कम चार मामलों में आरोप लगाया है, जिसने उसे तत्काल ऋण ऐप के खतरे के खिलाफ जांच शुरू करने के लिए मजबूर किया।

RELATED ARTICLES

Most Popular