HomeShare Marketफाइनेंस से जुड़ी सरकारी कंपनी का 80 फीसदी बढ़ा मुनाफा, NPA में...

फाइनेंस से जुड़ी सरकारी कंपनी का 80 फीसदी बढ़ा मुनाफा, NPA में भी सुधार

इंडिया इंफ्रास्ट्रक्चर फाइनेंस कंपनी लिमिटेड (IIFCL) का शुद्ध लाभ वित्त वर्ष 2021-22 की चौथी तिमाही में 80 प्रतिशत बढ़कर 514 करोड़ रुपये हो गया। इसका मुख्य कारण कर्ज में वृद्धि और फंसे ऋण में कमी आना है। बता दें कि सरकारी स्वामित्व वाली बुनियादी ढांचा वित्तपोषक कंपनी IIFCL ने पिछले वित्तवर्ष में 285 करोड़ रुपये का शुद्ध मुनाफा कमाया था।

IIFCL के प्रबंध निदेशक पीआर जयशंकर ने कहा कि कंपनी ने 2019-20 में दर्ज 51 करोड़ रुपये की तुलना में मुनाफे में लगभग 10 गुना वृद्धि दर्ज की है और अपना बेहतर प्रदर्शन जारी रखा है। हालांकि, जयशंकर ने कहा, मौजूदा बाजार की स्थिति और अन्य बाहरी कारक व्यवसाय की गति निर्धारित करेंगे।

एनपीए में भी गिरावट: IIFCL की सकल गैर-निष्पादित परिसंपत्ति (एनपीए) एक साल पहले के 13.9 प्रतिशत से घटाकर 9.22 प्रतिशत पर आ गयी। कंपनी का शुद्ध एनपीए भी एक साल पहले की अवधि में 5.39 प्रतिशत से घटकर 3.65 प्रतिशत पर आ गया।

आईआईएफसीएल की स्थापना 2006 में भारत सरकार के एक पूर्ण स्वामित्व वाली संस्था के रूप में की गई थी, जो भारत में इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर की लंबी अवधि की फाइनेंसिंग जरूरतों को पूरा करती है। 

संबंधित खबरें

RELATED ARTICLES

Most Popular