HomeShare Marketपाकिस्तान-नेपाल में ₹11 तक सस्ता हुआ पेट्रोल, कच्चे तेल के दाम गिरे...

पाकिस्तान-नेपाल में ₹11 तक सस्ता हुआ पेट्रोल, कच्चे तेल के दाम गिरे पर भारत में अभी कंपनियां रो रहीं घाटे का रोना

कच्चे तेल की कीमतें अब 100 डॉलर प्रति बैरल के नीचे आ गई हैं। भारत में पेट्रोल-डीजल की कीमतें स्थिर हैं, वहीं कई देशों में पेट्रोल सस्ता हो गया है। 20 जून की तुलना में एक अगस्त 2022 को पड़ोसी नेपाल में एक लीटर पेट्रोल की औसत कीमत भारतीय रुपये में 124.27 रुपये से घटकर अब 113.01 रुपये रह गई है। वहीं, भारत में पेट्रोलियम कंपनियां दाम न बढ़ने की वजह से नुकसान का रोना रो रही हैं।

राहत भरा मंगलवार: पेट्रोल-डीजल के नए रेट जारी, घर से निकलने से पहले यहां चेक कर लें अपने शहर का दाम

globalpetrolprices.com पर एक अगस्त को जारी रेट के मुताबिक पाकिस्तान में पेट्रोल की कीमत 86.71 (20 जून का रेट) भारतीय रुपये प्रति लीटर से घटकर 75.89 रुपये पर आ गई है। जबकि, भूटान में करीब 8 रुपये महंगा होकर पेट्रोल 92.08 से 100.52 रुपये पर पहुंच गया है। अगर आर्थिक और ईंधन संकट से जूझ रहे श्रीलंका की बात करें तो 20 जून से 1 अगस्त के बीच पेट्रोल की कीमत करीब 27 रुपये लीटर बढ़ी है। 20 जून को श्रीलंका में एक लीटर पेट्रोल की औसत कीमत 98.28 रुपये थी और अब 119.05 रुपये हो गई है। 

7 अगस्त को बांग्लादेश में पेट्रोल के दाम उछले

बांग्लादेश में पेट्रोल के दाम में 51.7 फीसदी और डीजल में 42 फीसदी की बढ़ोतरी की गई, जो इतिहास में सबसे ज्यादा है। ईंधन कीमतें बढ़ाए जाने के विरोध में लोग सड़कों पर उतर आए हैं। भारत में भी पेट्रोल की औसत कीमत अभी 104.18 रुपये है। बता दें दुनिया में आज भी सबसे सस्ता पेट्रोल वेनेजुएला में है तो सबसे महंगा हांगकांग में है।

इंडियन ऑयल श्रीलंका में ईंधन की किल्लत के बीच 50 नए पेट्रोल पंप खोलेगी

globalpetrolprices.com पर 1 अगस्त को जारी पेट्रोल के नए रेट के मुताबिक हांगकांग में एक लीटर पेट्रोल की कीमत 20 जून की कीमत 233.77 रुपये प्रति लीटर से बढ़कर 235.23 रुपये हो गई है। वहीं,  वेनुजुएला में भी पेट्रोल का रेट 1.73 रुपये से 1.75 रुपये हो गया है। दुनिया में 6 ऐसे देश वेनुजुएला, लीबिया, ईरान, अल्जीरिया, कुवैत और अंगोला हैं, जहां पेट्रोल की कीमत 30 रुपये प्रति लीटर से भी कम है।

हालांकि दुनिया भर में पेट्रोल  (गैसोलीन) की औसत कीमत 113.37 रुपये प्रति लीटर है। हालांकि, अलग-अलग देशों के बीच इन कीमतों में काफी अंतर है। विभिन्न देशों में कीमतों में अंतर पेट्रोल के लिए विभिन्न टैक्सों और सब्सिडी के कारण है। वैसे भारत में पेट्रोल की कीमत अब कुछ शहरों में ही 100 रुपये प्रति लीटर के पार है। 

भारत में पेट्रोल-डीजल के दाम नहीं बढ़ने से पेट्रोलियम कंपनियों को नुकसान

पेट्रोलियम कंपनियों को चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में लागत मूल्य बढ़ने के बावजूद पेट्रोल और डीजल की कीमतों को स्थिर रखने की वजह से कुल 18,480 करोड़ रुपये का नुकसान उठाना पड़ा है। सार्वजनिक क्षेत्र की तीन तेल विपणन कंपनियों की तरफ से शेयर बाजारों को दी गई जानकारी के मुताबिक, अप्रैल-जून तिमाही में पेट्रोल-डीजल के दाम नहीं बढ़ाने की वजह से उनका घाटा काफी बढ़ गया। ऐसा उनके विपणन मार्जिन में गिरावट आने के कारण हुआ।

RELATED ARTICLES

Most Popular