HomeShare Marketतुअर, उड़द दाल पर सरकार ने उठाया बड़ा कदम, कीमत पर लगेगी...

तुअर, उड़द दाल पर सरकार ने उठाया बड़ा कदम, कीमत पर लगेगी लगाम

केंद्र सरकार ने घरेलू आपूर्ति बढ़ाने और कीमतों को नियंत्रण में रखने के अपने प्रयास के तहत मार्च 2023 तक तुअर दाल और उड़द दाल के आयात को ‘फ्री कैटेगरी’ में रखने का फैसला किया है। इसका मतलब है कि आयात पर कोई पाबंदी नहीं होगी।

सरकार की ओर से जारी बयान में कहा गया है, ‘‘घरेलू उपलब्धता बढ़ाने और आवश्यक खाद्य वस्तुओं की कीमतों को नियंत्रण में रखने के सक्रिय कदम के तहत केंद्र ने 31 मार्च, 2023 तक तुअर और उड़द के आयात को ‘फ्री कैटेगरी’ के तहत रखने के निर्णय को अधिसूचित किया।’’  

इस फैसले ने अगले वित्त वर्ष में तुअर और उड़द के लिए आयात नीति व्यवस्था के संबंध में अटकलों पर विराम लगा दिया है। यह एक स्थिर नीति व्यवस्था का भी संकेत देता है जिससे सभी अंशधारकों को फायदा पहुंचेगा। सरकार के मुताबिक इस सक्रिय उपाय से घरेलू उपलब्धता बढ़ाने के लिए इन दालों का निर्बाध आयात सुनिश्चित होगा। उम्मीद है कि इन दालों की पर्याप्त उपलब्धता से उपभोक्ताओं के लिए इनके दाम घटेंगे।

संबंधित खबरें

बता दें कि सरकार ने 15 मई, 2021 से ‘फ्री कैटेगरी’ के तहत तुअर, उड़द और मूंग के आयात की अनुमति दी थी और यह 31 अक्टूबर, 2021 तक ही वैध था। इसके बाद तुअर और उड़द के आयात के संबंध में मुक्त व्यवस्था को 31 मार्च, 2022 तक बढ़ा दिया गया था। 

क्या है कीमत: उपभोक्ता मामलों के विभाग के आंकड़ों के अनुसार, 28 मार्च को अरहर दाल का अखिल भारतीय औसत खुदरा मूल्य 102.99 रुपये प्रति किलोग्राम था, जो एक साल पहले के 105.46 रुपये प्रति किलोग्राम से 2.4 प्रतिशत कम है। 28 मार्च को उड़द दाल का अखिल भारतीय औसत खुदरा मूल्य 104.3 रुपये प्रति किलो था, जो एक साल पहले के 108.22 रुपये प्रति किलो से 3.62 प्रतिशत कम है।

RELATED ARTICLES

Most Popular