HomeShare Marketजून में बदल जाएंगे ये नियम, आपकी जेब पर पड़ेगा सीधा असर 

जून में बदल जाएंगे ये नियम, आपकी जेब पर पड़ेगा सीधा असर 

हर महीने के शुरुआत के साथ कई नियम बदल जाते हैं। जिसका असर हमारे आपके जेब पर पड़ता है। जून (June 2022) का महीना शुरू होने में अब ज्यादा दिन नहीं बचा है। आइए जानते हैं कि कौन-कौन से नियम जून के महीने में बदलने जा रहे हैं और उसका क्या असर हमारे और आपके जेब पर पड़ेगा?

यह भी पढ़ें: जून के महीने में 8 दिन बंद रहेंगे बैंक, जानें कब और कहां रहेगी छुट्टी

स्टेट बैंक ऑफ इंडिया होम लोन 

अगर आप स्टेट बैंक ऑफ इंडिया (SBI) के ग्राहक हैं तो आपके लिए जरूरी अपडेट है। बैंक की वेबसाइट पर दी गई जानकारी के अनुसार स्टेट बैंक ऑफ ने एक्सटर्नल बेंचमार्क लेंडिंग रेट्स (EBLR) को 0.40% से बढ़ाकर 7.05% कर दिया है। बैंक ने रेपो लिंक्ड लेंडिंग रेट (RLLR) में भी 0.40% का इजाफा किया है। अब यह दर 6.65% हो गया है। बता दें, नई दरें 1 जून 2022 से प्रभावी रहेंगी। 

थर्ड पार्टी इंश्योरेंस हुआ महंगा 

सरकार की ने थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के प्रीमियम में इजाफा करने का फैसला किया है। बैंक की नई दरें 1 जून से लागू हो जाएंगी। यानी अगले महीने से आपको थर्ड पार्टी इंश्योरेंस के लिए ज्यादा पैसा खर्च करना होगा। 

संबंधित खबरें

क्या होगी नई दरें 

गाड़ी क्षमता                  –            नई दर (रुपये) 

(प्राइवेट कार)

1000 सीसी तक की गाड़ी    –     2,094 
1000 सीसी से अधिक और 1500 सीसी तक – 3416 
1500 सीसी से अधिक   –             7,897 

(टू व्हीलर)

75 सीसी तक                   –      538 
75 सीसी से अधिक और 150 सीसी तक  – 714 
150 सीसी से अधिक और 350 सीसी तक तक – 1,366 
350 सीसी से अधिक        – 2,804 

गोल्ड हाॅल मार्किंग 

गोल्ड हाॅल मार्किंग का दूसरा चरण 1 जून 2022 से लागू होगा। इस दूसरे चरण में 288 जिलों में हाॅल मार्किंग का नियम लागू होने जा रहा है। यानी 14, 18, 20, 22, 23 और 24 कैरेट गोल्ड के गहने इन जिलों में बिना हाॅल मार्किंग के नहीं बेच पाएंगे। 

इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (IPPB)

अगर आप इंडिया पोस्ट पेमेंट बैंक (IPPB) की आधार इनेबल्ड सिस्टम का लाभ उठाते हैं तो आपको आप पैसा देना होगा। नए नियमों के अनुसार 15 जून से तीन ट्रांजैक्शन फ्री रहेगा। जबकि चौथे ट्रांजैक्शन से हर बार 20 रुपये प्लस जीएसटी देनी होगी। 

एक्सिस बैंक के ग्राहकों को खर्च करने होंगे अधिक पैसे

प्राइवेट सेक्टर के बड़े बैंकों में से एक एक्सिस बैंक 1 जून 2022 से नियमों में बदलाव करने जा रहा है। एक जून से सेमी अर्बन/ ग्रामीण क्षेत्र के सेविंग और सैलरी अकाउंट का मिनिमम बैलेंस 15 हजार रुपये से बढ़ाकर 25 हजार रुपये कर दिया गया है। 

RELATED ARTICLES

Most Popular