HomeShare Marketजूते बनाने वाली कंपनी Campus Activewear का IPO इस दिन होगा ओपन,...

जूते बनाने वाली कंपनी Campus Activewear का IPO इस दिन होगा ओपन, इतना है प्राइस बैंड

फुटवियर ब्रांड कैंपस एक्टिववियर (Campus Activewear) का आईपीओ (इनीशियल पब्लिक ऑफरिंग) अगले हफ्ते मंगलवार, 26 अप्रैल 2022 को ओपन हो रहा है। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) की वेबसाइट पर उपलब्ध जानकारी के मुताबिक, कैंपस एक्टिववियर आईपीओ (Campus Activewear IPO) का प्राइस बैंड प्रति इक्विटी शेयर 278 रुपये से 292 रुपये फिक्स किया गया है। कंपनी का आईपीओ सब्सक्रिप्शन के लिए गुरुवार 28 अप्रैल 2022 तक ओपन रहेगा। 

लिस्टिंग के लिए अप्रूव हुए हैं टोटल 4,79,50,000 शेयर
कंपनी ने पिछले साल ड्राफ्ट रेड हेयरिंग प्रास्पेक्टस (DRHP) फाइल किया था, जिसमें कैंपस एक्टिववियर लिमिटेड ने इस पब्लिक इश्यू के जरिए प्रमोटर्स और मौजूदा शेयरहोल्डर्स की तरफ से 5.1 करोड़ इक्विटी शेयरों के ऑफर फॉर सेल (OFS) का प्रस्ताव किया था। हालांकि, लिस्टिंग के लिए अप्रूव्ड हुए शेयरों की कुल संख्या 4,79,50,000 है। इस OFS में शेयर ऑफर करने वाले कैंपस शूज के प्रमोटर्स में हरि कृष्ण अग्रवाल और निखिल अग्रवाल शामिल हैं। ओएफएस में ऑफर किए गए इक्विटी शेयर्स में TPG ग्रोथ III SF Pte लिमिटेड और QRG एंटरप्राइजेज लिमिटेड शामिल हैं। 

यह भी पढ़ें- छप्परफाड़ रिटर्न: एक महीने से Adani Power दिखा रहा पावर, विल्मर साबित हो रहा मल्टीबैगर, ग्रीन से निवेशक मालामाल

संबंधित खबरें

पब्लिक इश्यू के 1 लॉट में होंगे 51 शेयर, 14,892 रुपये होगा मिनिमम अमाउंट
मौजूदा समय में कैंपस एक्टिववियर लिमिटेड में प्रमोटर्स की हिस्सेदारी 78.21 फीसदी है। वहीं, TPG ग्रोथ और QRG एंटरप्राइजेज की कंपनी में हिस्सेदारी क्रमशः 17.19 फीसदी और 3.86 फीसदी है। बाकी की 0.74 फीसदी हिस्सेदारी इंडीविजुअल शेयरहोल्डर्स और कंपनी के मौजूदा एंप्लॉयीज के पास है। कोई भी बिडर कैंपस एक्टिववियर आईपीओ के लिए लॉट्स में अप्लाई कर पाएंगे। पब्लिक इश्यू के एक लॉट में कैंपस एक्टिववियर के 51 शेयर होंगे। ऐसे में पब्लिक इश्यू के लिए आवेदन करने का मिनिमम अमाउंट 14,892 रुपये होगा। शेयरों के अलॉटमेंट की टेंटेटिव डेट 4 मई 2022 है। वहीं, कंपनी के शेयर 9 मई 2022 को बीएसई और एनएसई में लिस्टेड हो सकते हैं।  

यह भी पढ़ें- राकेट बना यह शेयर: 87 रुपये 45 पैसे के शेयर का कमाल, केवल 3 महीने में एक लाख बन गए डेढ़ करोड़ से अधिक

RELATED ARTICLES

Most Popular