HomeShare Marketजर्मनी की यह कंपनी भारत से कारोबार बेचने की कर रही तैयारी,...

जर्मनी की यह कंपनी भारत से कारोबार बेचने की कर रही तैयारी, खरीदने की रेस में अंबानी-अडानी सबसे आगे

जर्मनी की रिटेल विक्रेता मेट्रो एजी भारत से कारोबार समेटने की तैयारी कर रही है। मेट्रो एजी की भारतीय सहायक कंपनी मेट्रो कैश एंड कैरी इंडिया में हिस्सेदारी खरीदने के लिए मुकेश अंबानी और गौतम अडानी रेस में हैं। बिजनेस स्टैंडर्ड की खबर के मुताबिक, मेट्रो कैश एंड कैरी इंडिया में हिस्सेदारी खरीदने के लिए अंबानी और अडानी डील के अंतिम चरण पहुंच गए हैं। ऐसे में अब देखना दिलचस्प रहेगा कि इस कंपनी पर कौन कब्जा करता है।

20 कंपनियों से किया गया था संपर्क
इंडस्ड्री सूत्रों ने रिलायंस, अडानी समूह और थाईलैंड के समूह चारोन पोकफंड (सीपी) को गुरुग्राम-मुख्यालय मेट्रो कैश एंड कैरी में आंशिक या पूर्ण हिस्सेदारी हासिल करने के लिए संभावित खरीदार के रूप में नामित किया है। कंपनी के पास यहां 31 स्टोर और 5,000 डायरेक्ट कर्मचारी हैं। खबर है कि जर्मन चेन द्वारा रणनीतिक और निजी इक्विटी निवेशकों सहित लगभग 20 कंपनियों से संपर्क किया गया था। इसमें अंबानी और अडानी से भी संपर्क किया गया था।

यह भी पढ़ें- अडानी की कंपनी करेगी एक और बड़ी डील! एयर वर्क्स ग्रुप में हिस्सेदारी खरीदेंगे गौतम अडानी

कारोबार को बढ़ाने के लिए निवेशक की तलाश
सूत्र के मुताबिक भारतीय व्यापार को अपना नेटवर्क बढ़ाने और अधिक स्टोर जोड़ने के लिए और अधिक निवेश की आवश्यकता है। वहीं, मेट्रो एजी के प्रवक्ता ने भी स्वीकार किया है कि कंपनी रणनीतिक विकल्पों की समीक्षा कर रही है। मेट्रो एजी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष (कॉरपोरेट संचार) गेर्ड कोस्लोव्स्की ने कहा, ‘‘मेट्रो इंडिया एक बढ़ता हुआ व्यवसाय है, जिसमें थोक के लिए भारी संभावनाएं हैं। हम मेट्रो की मौजूदा थोक क्षमताओं को बढ़ाने और भारत में व्यापार वृद्धि में तेजी लाने के लिए संभावित भागीदारों के साथ विकल्पों की समीक्षा कर रहे हैं।’’

संबंधित खबरें

RELATED ARTICLES

Most Popular