HomeShare Marketखाने-पीने के समानों की कीमतों में बढ़ोतरी से गरीबों का संकट बढ़ेगा

खाने-पीने के समानों की कीमतों में बढ़ोतरी से गरीबों का संकट बढ़ेगा

खाद्य मुद्रास्फीति नवंबर 2020 के बाद सबसे अधिक स्तर तक पहुंच गई है। नंवबर 2020 में यह 7.68 फीसदी थी, जो मार्च 2022 में बढ़कर 9.2 फीसदी तक पहुंच गई। इसके चलते रसोई का बजट बिगड़ गया है।

RELATED ARTICLES

Most Popular