HomeShare Marketएनपीएस की सभी योजनाओं में जोखिम बताना जरूरी होगा, म्यूचुअल फंड से...

एनपीएस की सभी योजनाओं में जोखिम बताना जरूरी होगा, म्यूचुअल फंड से बॉन्ड तक के मानक तय

राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली (एनपीएस) को निवेशकों के लिए और आकर्षक एवं आसान बनाने के लिए पेंशन फंड नियामक पीएफआरडीए ने एक नई पहल की है। नियामक ने एनपीएस के अंशधारकों को विभिन्न परिसंपत्ति वर्गों में अपना योगदान आवंटित करने के बारे में निर्णय लेने में सक्षम बनाने के लिए पेंशन फंड को एनपीएस की सभी योजनाओं में जोखिम बताना जरूरी कर दिया है।

पीएफआरडीए के दिशानिर्देश के अनुसार पेंशन फंड को प्रत्येक तिमाही की समाप्ति से 15 दिनों के भीतर अपनी वेबसाइट पर सभी योजनाओं की जोखिम रूपरेखा का खुलासा करना होगा। पीएफआरडीए ने जोखिम के छह स्तरों को रेखांकित करते हुए दिशानिर्देश जारी किए हैं उनमें निम्न, निम्न से मध्यम, मध्यम, मध्यम उच्च, उच्च और बहुत अधिक शामिल हैं। योजना की विशेषताओं के आधार पर पेंशन फंड को सात योजनाओं के लिए एक जोखिम स्तर निर्दिष्ट करना होगा।

पेट्रोल पर 13 रुपये और डीजल पर 24 रुपये प्रति लीटर का घाटा

ऋण (कॉर्पोरेट बांड और सरकारी प्रतिभूतियों) के लिए, जोखिम रूपरेखा क्रेडिट जोखिम, ब्याज दर जोखिम और तरलता जोखिम पर होगी। इक्विटी के लिए जोखिम का मानदंड बाजार पूंजीकरण, अस्थिरता और प्रभाव लागत पर तय होगा। कंजर्वेटिव यानी परंपरागत क्रेडिट रेटिंग के आधार पर, 0 से 12 तक के मूल्य को क्रेडिट जोखिम के तौर पर दर्शाना होगा।

संबंधित खबरें

शून्य का क्रेडिट जोखिम उच्चतम क्रेडिट गुणवत्ता को इंगित करेगा, जबकि 12 का क्रेडिट मूल्य निम्नतम क्रेडिट गुणवत्ता को इंगित करेगा। पोर्टफोलियो का क्रेडिट जोखिम प्रतिभूतियों के क्रेडिट जोखिम मूल्य और पोर्टफोलियो में उनके आवंटन को मिलाकर किया जाएगा। प्रबंधन के तहत परिसंपत्तियों की गणना के लिए विचार किए जाने वाले ऋण साधन की कीमत एक साफ कीमत पर आधारित होगी।

सरकारी बॉन्ड में यह होगा नियम

सरकारी प्रतिभूतियों/राज्य विकास ऋणों/ट्राई-पार्टी रेपो के लिए ऋण प्रतिभूतियों का ऋण जोखिम 0 होगा। एएए (ट्रिपल ए) के लिए यह एक होगा; एए+ (डबल ए प्लस) के लिए यह 2 होगा और इसी तरह आगे बढ़ेगा। ब्याज दर के लिए ऋण (डेट) पोर्टफोलियो के आधार पर जोखिम का मूल्यांकन किया जाएगा। योजना में तरलता के जोखिम को आंकने के लिए क्रेडिट रेटिंग और सूचीबद्धता के साथ डेट फंड की संरचना पर विचार करके किया जाएगा।

इक्विटी के लिए जोखिम रूपरेखा

शेयरों से जुड़े यानी इक्विटी के लिए, जोखिम रूपरेखा बाजार पूंजीकरण, अस्थिरता और प्रभाव लागत या तरलता जैसे मापदंडों पर की जाएगी। एनपीएस ट्रस्ट द्वारा अर्ध-वार्षिक आधार पर शीर्ष 100 और शीर्ष 100 से अधिक शेयरों की सूची को परिभाषित किया जाएगा। मूल्यांकन के लिए विचार किए गए शेयरों का बाजार पूंजीकरण पिछले छह महीनों में बाजार पूंजीकरण का औसत होगा।

म्यूचुअल फंड में यह होगा मानक

म्यूचुअल फंड योजनाओं की इकाइयों को रखने वाली योजनाओं के लिए, योजनाओं के जोखिम-ओ-मीटर के आधार पर मूल्यों को सौंपा जाएगा। उदाहरण के लिए कम जोखिम को 1 असाइन किया जाएगा; निम्न से मध्यम को 2 असाइन किया जाएगा; मध्यम सौंपा जाएगा 3; मध्यम रूप से उच्च 4 होगा; उच्च 5 होगा और बहुत अधिक 6 होगा। आरईआईटी और इनविट में निवेश को जोखिम के नजरिए से 7 का स्कोर दिया जाएगा। वैकल्पिक निवेश कोष (एआईएफ) में निवेश को जोखिम के नजरिए से 8 का स्कोर दिया जाएगा।

RELATED ARTICLES

Most Popular