HomeShare Marketएक साल में हजार करोड़ रुपए से ज्यादा के सिक्के चलन में...

एक साल में हजार करोड़ रुपए से ज्यादा के सिक्के चलन में आए, जानें कब लॉन्च किया गया था 20 रुपए का सिक्का

: देश में वित्तवर्ष 2020-2021 के मुकाबले 2021-22 में हजार करोड़ रुपए से ज्यादा के सिक्के चलन में आ गए हैं। रिजर्व बैंक की रिपोर्ट के मुताबिक देश में सिक्कों के साथ-साथ नोटों के इस्तेमाल का सर्वे किया जाएगा। सर्वे में डिजिटल लेन देन के साथ साथ इनके इस्तेमाल के आधार पर आने वाले दिनों में छपाई की रणनीति बनाई जाएगी।

रिपोर्ट के मुताबिक देश में सिक्कों के कुल मूल्य की बात की जाए तो वित्तवर्ष 2022 में कुल 27,970 करोड़ रुपए के सिक्के चलन में हैं। ये आकंड़ा वित्तवर्ष 2021 में 26,870 करोड़ रुपए और वित्तवर्ष 2020 में 26,305 करोड़ रुपए था। वहीं अगर अलग अलग सिक्कों की बात की जाए तो चलन में 1 रुपए के सिक्के वित्तवर्ष 2020 में 5,089 करोड़, 2021 में 5,126 करोड़ रुपए और 2022 में 5,159 करोड़ रुपए के मूल्य के थे।

PM Kisan की 11वीं किस्त 31 को आएगी, फौरन चेक करें लिस्ट

वहीं 2 रुपए के चलन में सिक्के वित्तवर्ष 2020 में 6,703 करोड़, 2021 में 6,757 करोड़ और वित्तवर्ष 2022 में 6,816 करोड़ रुपए के मूल्य के थे। 5 रुपए के सिक्के 2020 में 8,800 करोड़ रुपए, 2021 में 8,968 करोड़ रुपए और वित्तवर्ष 2022 में 9,217 करोड़ रुपए मूल्य के चलन में रहे हैं। वहीं 10 रुपए के सिक्के 2020 में 5,013 करोड़ रुपए, 2021 में 5,139 करोड़ रुपए और वित्तवर्ष 2022 में 5,404 करोड़ रुपए मूल्य के चलन में थे।

संबंधित खबरें

मई 2020 में लॉन्च किया गया था 20 रुपए का सिक्का

चलन में सबसे ज्यादा 1, 2 और 5 रुपए के सिक्के

साथ ही मई 2020 में लॉन्च किए गए 20 रुपए के सिक्के वित्तवर्ष 2021 में 179 करोड़ रुपए और वित्तवर्ष 2022 में 674 करोड़ रुपए मूल्य के चलन में थे। 31 मार्च 2022 तक देश में 1, 2 और 5 रुपए के सिक्के कुल चलन में सिक्कों का 83.5 हिस्सा है। कुल मूल्य में इनका हिस्सा 75.8 फीसदी है।

खाद्य तेलों के थोक भाव में गिरावट तो 190-210 रुपये लीटर क्यों बिक रहा सरसों तेल? जमकर मुनाफा काट रहे दुकानदार

जानकारी के मुताबिक सिक्कों के प्रबंधन का काम देश भर में फैले आरबीआई के करंसी चेस्ट और छोटे सिक्कों के जमा केंद्रों के जरिए किया जाता है। चालू वित्तवर्ष यानि 2022-23 के दौरान रिजर्व बैंक देश में डिजिटल लेन देन और सिक्कों के साथ साथ नोटों के चलन का देशव्यापी सर्वे कराएगा। उसी हिसाब से आने वाले दिनों में नोटों की छपाई और सिस्के बनाने का काम किया जाएगा।

RELATED ARTICLES

Most Popular