HomeShare Marketइन 4 योजनाओं में मिलता तगड़ा रिटर्न, निवेशक कर सकते हैं 1.50...

इन 4 योजनाओं में मिलता तगड़ा रिटर्न, निवेशक कर सकते हैं 1.50 लाख रुपये तक की टैक्स की बचत भी

सभी टैक्सपेयर्स को इनकम टैक्स एक्ट 80 सीसी के तहत निवेश पर 1.50 लाख रुपये के कर में छूट क्लेम करने का मौका रहता है। इस नियम के जरिए निवेशक अपना पैसा बचा सकते हैं। बाजार में ढेर सारे विकल्प मौजूद हैं जहां निवेश करके इस नियम का लाभ उठाया जा सकता है। लेकिन ज्यादातर कर दाता इस इंवेस्टमेंट पर गारंटी वाला रिटर्न चाहते हैं। आइए जानते हैं ऐसे ही चार इंवेस्टमेंट प्लान जिसके जरिए कर दाता टैक्स की बचत के साथ बेहतर रिटर्न भी पा सकते हैं।

यह भी पढ़ेंः जून में बदल जाएंगे ये नियम, आपकी जेब पर पड़ेगा सीधा असर

सुकन्या समृद्धि योजना (Sukanya Samriddhi Account)

सुकन्या समृद्धि योजना माता-पिता अपने 10 साल से कम बेटी के नाम पर खोल सकते हैं। इस अकाउंट के जरिए निवेशक 1.50 लाख रुपये टैक्स की बचत कर सकते हैं। मौजूदा समय में सरकार की तरफ से इस योजना पर 7.60% ब्याज दिया जा रहा है। बता दें, इस योजना में निवेश की शुरुआत महज 250 रुपये के साथ की जा सकती है। लड़की की उम्र 18 साल से अधिक या फिर 10वीं पास करने पर 50% तक की जमा राशि निकाली जा सकती है।

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF)

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF) भी एक चर्चित टैक्स सेविंग योजना है। इस सरकारी योजना पर फिलहाल 7.1% का सालाना ब्याज मिल रहा है। इस योजना में निवेश करने वाले इंवेस्टर्स 5 साल बाद पैसा निकाल सकते हैं। पीपीएफ अकाउंट 15 साल में मैच्योर होती है। इस योजना में 500 रुपये कम से कम निवेश करना होगा। पीपीएफ निवेशक भी 80 सीसी के तहत 1.50 लाख रुपये टैक्स में छूट के लिए क्लेम कर सकते हैं।

संबंधित खबरें

सीनियर सीटिजन सेविंग स्कीम (Senior Citizen Saving Scheme)

यह भी एक टैक्स सेविंग स्कीम है। लेकिन इस स्कीम को सिर्फ 60 साल से अधिक उम्र के लोग ही खुलवा सकते हैं। इसमें निवेश 1000 रुपये के साथ शुरु किया जा सकता है। सरकार की तरफ से सीनियर सीटिजन सेविंग स्कीम फिलहाल 7.4% ब्याज दिया जा रहा है। एक साल में अगर ब्याज 50,000 रुपये से अधिक रहता है तो टीडिएस का कटौती की जाएगी। इसके अलावा अगर निवेशक समय से पहले इस स्कीम से पैसा निकालना चाहते हैं तो उन्हें पेनाल्टी देनी होगी।

5 साल के लिए बैंक फिक्सड डिपॉजिट

बैंक एफडी के जरिए भी टैक्स में बचत की जा सकती है। यह एक ऐसा निवेश है जहां रिटर्न की गारंटी रहती है। यही वजह है कि निवेशक बैंक एफडी में खूब पैसा लगाते हैं। रिटर्न की गारंटी के साथ एफडी निवेशक 1.50 लाख रुपये तक टैक्स क्लेम कर सकते हैं। बैंकों की तरफ से सीनियर सिटीजन को एफडी पर अतिरिक्त ब्याज दिया जाता है। अमूमन 5 साल के लिए बैंक एफडी सबसे सही मानी जाती है।

RELATED ARTICLES

Most Popular