HomeShare Marketआधार-आधारित ओटीपी के जरिए ITR को इन 4 स्टेप्स में करें ई-वेरिफाई

आधार-आधारित ओटीपी के जरिए ITR को इन 4 स्टेप्स में करें ई-वेरिफाई

वित्तीय वर्ष 2021-22 और एसेसमेंट ईयर 2022-23 के लिए आयकर रिटर्न (ITR) जमा करने की समय सीमा 31 जुलाई थी और इस वर्ष केंद्र सरकार ने नियत तारीख को आगे नहीं बढ़ाया। आयकर विभाग को लगभग 5.83 करोड़ टैक्स रिटर्न प्राप्त हुए, जिसमें से 72 लाख से अधिक अंतिम दिन जमा किए गए।

 31 दिसंबर तक फाइल कर सकते हैं आईटीआर बशर्ते..

जिन लोगों ने अभी तक अपना रिटर्न दाखिल नहीं किया है, वे 31 दिसंबर तक विलंब शुल्क का भुगतान करके ऐसा कर सकते हैं। वहीं, जिन करदाताओं ने 31 जुलाई को या उससे पहले अपना आईटीआर जमा किया है, उन्हें अपने रिटर्न का वेरीफिकेशन करना चाहिए, अन्यथा इन्हें प्रोसेस नहीं किया जाएगा। आईटीआर फाइल करने के एक महीने के भीतर वेरिफाई होना चाहिए।

ITR ई-वेरिफिकेशन के लिए अब मिलेंगे सिर्फ 30 दिन, पहले मिलते थे 120 दिन

आईटीआर वेरीफाई करने के कई तरीके हैं। हालांकि, इनमें से सबसे आसान तरीकों में से एक आधार-आधारित वन-टाइम पासवर्ड (ओटीपी) विधि है; इसका लाभ उठाने के लिए आपका मोबाइल नंबर आधार से लिंक होना चाहिए। आधार-आधारित ओटीपी प्रणाली का उपयोग करके रिटर्न सत्यापित करने के लिए, बस इन चरणों का पालन करें:


(1.) आईटी विभाग के पोर्टल के ई-वेरीफिकेशन पेज पर जाएं और आधार-आधारित ओटीपी के विकल्प का चयन करें।

(2.) एक पॉप-अप दिखाई देगा जो आपसे अपने आधार विवरण को मान्य करने के लिए कहेगा, उस बॉक्स के आगे एक टिक चिह्नित करें।

(3.) अपने पंजीकृत मोबाइल नंबर पर छह अंकों का कोड प्राप्त करने के लिए ‘जेनरेट आधार ओटीपी’ पर क्लिक करें।

(4.) ई-वेरीफिकेशन पूरा करने के लिए ओटीपी (केवल 15 मिनट के लिए वैध) दर्ज करें

RELATED ARTICLES

Most Popular