HomeShare Marketअर्थव्यवस्था के मोर्चे पर अच्छी खबर: मॉर्गन स्टेनली का अनुमान- सबसे तेजी...

अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर अच्छी खबर: मॉर्गन स्टेनली का अनुमान- सबसे तेजी से दौड़ेगी इंडियन इकोनॉमी

Indian Economy: भारतीय अर्थव्यवस्था के लिए अच्छी खबर है। भारत की इकोनॉमी दुनिया में सबसे तेजी से आगे बढ़ सकती है। यह अनुमान मॉर्गन स्टेनली (Morgan Stanley) का है। मॉर्गन स्टेनली के एनालिस्ट्स के अनुसार, 2022-23 में भारत की इकोनॉमी पूरे एशिया में सबसे तेज गति से विकास कर सकती है। मॉर्गन स्टेनली ने अपनी रिपोर्ट में कहा कि मौजूदा वित्त वर्ष में भारत की जीडीपी 7 फीसदी औसतन रहने का अनुमान है, जो कि पूरे एशिया की अर्थव्यवस्थाओं में सबसे अधिक रहने वाला है। 

क्या है वजह?
मॉर्गन स्टेनली भारत के आउटलुक को लेकर बेहद पाॅजिटिव हैं। उनकी रिपोर्ट में कहा गया है कि भारतीय अर्थव्यवस्था एक दशक से अधिक समय में अपने सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए तैयार है। ऐसा इसलिए क्योंकि रुकी हुई मांग को पूरा किया जा रहा है। रिपोर्ट के मुताबिक, कमोडिटी की कीमतों में कमी और अर्थव्यवस्था फिर से खुलने से मांग बढ़ रही है, इससे तेजी से आर्थिक रिकवरी हो  रही है। मोबिलिटी कोराना के पहले वाले लेवल पर पहुंचा चुका है। 

यह भी पढ़ें- रॉकेट बन गया टाटा ग्रुप का यह शेयर, तिमाही नतीजों के बाद शेयरों की हो रही जबरदस्त खरीदारी, ₹1000 के पार गया भाव

भारत अन्य विकसित देशों की तुलना में बेहतर 
हाल ही में  वर्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक द्वारा एक रिपोर्ट जारी की गई थी। इस रिपोर्ट के मुताबिक, भारती की जीडीपी वित्त वर्ष 2022 में 7.4 और 2023 में 6.1 रहने की उम्मीद है, जो अन्य बड़ी अर्थव्यवस्थाओं जैसे अमेरिका, यूरो एरिया, जर्मनी, फ्रांस, इटली, स्पेन, जापान व यूनाइटेड किंगडम की तुलना में कहीं बेहतर है। लेटेस्ट वर्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक ग्रोथ प्रोजेक्शन में भारत 2021 में भारत एक बड़ी अर्थव्यवस्था के रूप में उभरकर सामने आया है। 2021 में बड़ी अर्थव्यवस्थाओं की तुलना में भारत की जीडीपी सबसे ऊपर 8.7 रही, जिससे पता चलता है कि भारत की स्थिति अन्य विकसित देशों की तुलना में बेहतर है।

यह भी पढ़ें- 690 रुपये तक जा सकता है स्टील कंपनी का यह स्टॉक, 52-वीक हाई से 28% उछला शेयर

सरकार भी पाॅजिटिव
हाल ही में ब्रिक्स सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कहा कि भारत का जीडीपी चालू वित्त वर्ष (FY23) में 7.5 प्रतिशत बढ़ने के लिए तैयार है और यह इसे दुनिया की सबसे तेजी से बढ़ती प्रमुख अर्थव्यवस्था बना देगा। वहीं, लोकसभा में विपक्ष के एक प्रश्न पर वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि देश में मंदी आने का सवाल ही नहीं है। लोकसभा में महंगाई पर चर्चा के दौरान कहा कि उन्होंने कहा, कोरोना महामारी, रूस-यूक्रेन युद्ध और आपूर्ति शृंखला में अवरोधों के बावजूद भारत सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है। 

RELATED ARTICLES

Most Popular