HomeShare Marketअनिल अंबानी के लिए संकटमोचक बनेंगे गौतम अडानी, दिवालिया कंपनी की बदलेंगे...

अनिल अंबानी के लिए संकटमोचक बनेंगे गौतम अडानी, दिवालिया कंपनी की बदलेंगे किस्मत!

ऐप पर पढ़ें

आर्थिक संकट से जूझ रहे अनिल अंबानी (Anil Ambani) के कोयला आधारित पावर प्लांट को खरीदने में अडानी समूह ने दिलचस्पी दिखाई है। इस प्लांट को खरीदने की रेस में विदर्भ इंडस्ट्रीज पावर लिमिटेड भी है। कहने का मतलब है कि अडानी समूह (Adani group) को विदर्भ इंडस्ट्रीज से कॉम्पिटिशन का सामना करना पड़ सकता है। बता दें कि अनिल अंबानी के पावर प्लांट से मध्य भारत में 600 मेगावाट उत्पादन होता है। इन पावर प्लांट की वर्तमान में भारतीय दिवालियापन अदालत द्वारा नीलामी की जा रही है। 

संकट में अनिल अंबानी
अनिल अंबानी वर्षों से लेनदारों के कर्ज की वजह से जूझ रहा है। इस अरबपति की कई कंपनियां बिक्री प्रक्रिया से गुजर रही है। हाल ही में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने भी कथित विदेशी मुद्रा उल्लंघन मामले में अनिल अंबानी से पूछताछ की थी। 

ऑनलाइन गेमिंग, कसीनो पर अब 28% GST, मूवी देखने वालों के लिए खुशखबरी, काउंसिल के ये हैं बड़े फैसले

बहरहाल, यह डील कंप्लीट होती है तो अडानी समूह को कोयला आधारित पावर प्रोजेक्ट्स को बढ़ाने में मदद मिलेगी। बता दें कि अडानी समूह जनवरी में हिंडनबर्ग रिसर्च के रिपोर्ट के बाद से ही कई मोर्चों पर चुनौतियों का सामना कर रहा है। अनिल अंबानी की कंपनी के साथ होने वाली यह डील चुनौतियों से उबरने का एक प्रयास होगा।

ऑनलाइन गेमिंग, कसीनो पर अब लगेगा 28% GST, काउंसिल का बड़ा फैसला

रिलायंस पावर भी बेच सकती है हिस्सेदारी
विदर्भ इंडस्ट्रीज में अनिल अंबानी की कंपनी रिलायंस पावर की हिस्सेदारी है। हाल ही में विदर्भ इंडस्ट्रीज के कर्जदाताओं ने एसबीआई कैप्स को कर्ज समाधान प्रक्रिया के संचालन के लिए सलाहकार नियुक्त किया है। इसके पहले ही विदर्भ इंडस्ट्रीज के कर्जदाताओं को तीन बोलियां मिल चुकी हैं। खुद प्रवर्तक कंपनी रिलायंस पावर ने भी 1,260 करोड़ रुपये की एकमुश्त समाधान की पेशकश की है। इसके अलावा अहमदाबाद स्थित सीएफएम एसेट रिकंस्ट्रक्शन और एनएआरसीएल ने भी अपनी तरफ से पेशकश रखी हैं। सीएफएम की पेशकश 1,260 करोड़ रुपये की है जबकि एनएआरसीएल ने 1,120 करोड़ रुपये की बोली लगाई है।

RELATED ARTICLES

Most Popular