HomeShare Marketअडानी पावर का शेयर आज 14% भागा, 173 रुपये का शेयर पहुंच...

अडानी पावर का शेयर आज 14% भागा, 173 रुपये का शेयर पहुंच सकता है ₹470 पर! ये है बड़ी वजह

Adani Power Share: अडानी पावर के शेयर रॉकेट की तरह बढ़ रहे हैं। आज मंगलवार को कंपनी के शेयर 14.06 पर्सेंट की तेजी के साथ 173.65 रुपये पर बंद हुए। कंपनी के शेयरों में लगातार पांचवें कारोबारी दिन में तेजी देखी गई। पिछले पांच कारोबारी दिन में अडानी पावर के शेयरों (Adani power share price) में 34 प्रतिशत से ज्यादा की बढ़ोतरी दर्ज की गई है। वहीं, इस साल कंपनी के शेयर 72 पर्सेंट तक उछला है और यह 101 रुपये से बढ़कर 172 के पार चला गया है। बता दें कि कंपनी के शेयरों में तेजी के कई कारण हैं जिसके चलते बाजार एनालिस्ट भी इसे खरीदने की सलाह दे रहे हैं। 

टारगेट प्राइस 460-470 रुपये
IIFL Securities इस शेयर को ‘BUY’ रेटिंग दी है और मिड टर्म के लिए इसका टारगेट प्राइस 460-470 रुपये रखा है। यानी मौजूदा प्राइस के हिसाब से अभी निवेश पर 170.66% तक का रिटर्न मिल सकता है। आईआईएफएल सिक्योरिटीज के अनुज गुप्ता के मुताबिक, कंपनी ने हाल ही में एस्सार पावर एमपी का अधिग्रहण किया है। अडानी पावर मुंद्रा में एपीएमयूएल के इलेक्ट्रिसिटी प्लांट में लिक्विडिटि अमोनिया के उपयोग के साथ भी प्रयोग कर रहा है। इसके अलावा फ्यूल रेट बढ़ रहे हैं, इससे हायड्रा पावर पर साकारात्मक असर पड़ेगा। 

यह भी पढ़ें- अंबानी-बेजोस को कड़ी टक्कर देने के लिए टाटा ग्रुप बना रहा बड़ा प्लान, बेचेगी इन कंपनियों की हिस्सेदारी

संबंधित खबरें

अडानी पावर का पावर बढ़ने वाला है
कंपनी के शेयरों में तेजी की एक और वजह है। दरअसल, पिछले सप्ताह ही अडानी पावर ने बाजार को यह जानकारी दी थी कि उसके निदेशक मंडल ने छह पूर्ण स्वामित्व वाली सब्सिडियरी कंपनियों को अडानी पावर के साथ विलय के लिए एक समामेलन योजना को मंजूरी दी है। फाइलिंग के अनुसार, अडानी पावर के साथ विलय की जाने वाली सहायक कंपनियां अडानी पावर महाराष्ट्र लिमिटेड, अडानी पावर राजस्थान लिमिटेड, अडानी पावर (मुंद्रा) लिमिटेड, उडुपी पावर कॉर्पोरेशन लिमिटेड, रायपुर एनर्जी लिमिटेड और रायगढ़ एनर्जी जेनरेशन लिमिटेड हैं। बता दें कि ये कंपनियां अडानी पावर की पूर्ण स्वामित्व वाली सब्सिडियरी कंपनियां हैं। इन छह कंपनियों की पूरी संपत्ति और देनदारियां अडानी पावर को ट्रांसफर कर दी जाएंगी। 

यह भी पढ़ें- बैंक ग्राहक ध्यान दें! अप्रैल से इन 2 बैंकों के बदल जाएंगे नियम, चेक कर लें डिटेल्स

जानिए कितना बड़ा है अडानी पावर का कारोबार
अडानी पावर, अडानी ग्रुप (Adani group) का हिस्सा है, जो भारत की सबसे बड़ी प्राइवेट थर्मल पावर कंपनी है। भारत में यह कोयला आधारित सुपरक्रिटिकल थर्मल पावर प्लांट स्थापित करने में अग्रणी है। कंपनी के पास बिजली बेचने के लिए कई अल्पकालिक और दीर्घकालिक बिजली खरीद समझौते (पीपीए) हैं। यह भारत में बिजली उत्पादन की कुल क्षमता का 6% है। यह रिनेबल एनर्जी सेक्टर में भी है और गुजरात में इसका एक सोलर प्लांट भी है। अडानी पावर की भारत में छह बिजली प्लांट्स में कुल 12,410 मेगावाट की स्थापित कैपासिटी है। इसका गुजरात में 40MW की क्षमता वाला एक सोलर एनर्जी प्लांट भी है। कंपनी अपने सभी प्लांट में 7,000 मेगावाट कैपासिटी एड कर रही है, जिसमें बांग्लादेश को बिजली की आपूर्ति के लिए झारखंड में 1,600 मेगावाट की एक परियोजना भी शामिल है। Equitymaster रिसर्च रिपोर्ट के मुताबिक, अडानी पावर का साल 2017-18 में रेवेन्यू ग्रोथ 8.9% था, 2018-19 में 25.0%, 2019-20 में 5.6% और 2020-2021 में रेवन्यू ग्रोथ 1.1% रहा। 

RELATED ARTICLES

Most Popular