HomeShare Marketअडानी की इस कंपनी ने ढ़ाई महीने में ₹1.94 लाख को बना...

अडानी की इस कंपनी ने ढ़ाई महीने में ₹1.94 लाख को बना दिया 5.54 लाख रुपये, अब ₹750 पर जाएगा स्टॉक

Multibagger IPO: अडानी विल्मर के शेयर (Adani wilmar share) लगातार शानदार परफॉर्म कर रहे हैं। कंपनी के शेयर बीएसई पर लगभग 4 पर्सेंट ऊपर चढ़कर 630.25 रुपये पर ट्रेड कर रहे हैं। शुरुआती कारोबार में आज कंपनी के शेयर 634 रुपये तक पहुंच गए थे। कंपनी के शेयरों ने लिस्टिंग डे के बाद ही निवेशकों को मालामाल करने का काम किया है। यह लिस्टिंग डे से लेकर अब तक लगभग 185 पर्सेंट का मल्टीबैगर रिटर्न दिया है। पिछले एक महीने में यह शेयर लगभग 84% उछला है। 

इश्यू प्राइस से 185 प्रतिशत का फायदा
बता दें कि अडानी विल्मर का आईपीओ (Adani wilmar ipo) 27 जनवरी 2022 को लॉन्च हुआ था और इसके शेयरों की लिस्टिंग 8 फरवरी 2022 को हुई थी। कंपनी का इश्यू प्राइस ₹218 से ₹230  था। बीएसई पर कंपनी के शेयर 8 फरवरी को 221 रुपये डिस्काउंट पर लिस्ट हुए थे। इस हिसाब से अडानी विल्मर (Adani wilmar) के शेयर लगभग ढ़ाई महीने में ही अपने निवेशकों को 185 पर्सेंट से ज्यादा का जोरदार रिटर्न दिया है। 

यह भी पढ़ें- भारत के 5 सबसे महंगे शेयर, एक स्टॉक की कीमत 67000 रुपये, निवेशकों को दिया 82,000% तक का रिटर्न

संबंधित खबरें

1.94 लाख रुपये बन जाते 5.54 लाख रुपये
अडानी विल्मर आईपीओ की पेशकश ₹218 से ₹230  प्रति इक्विटी शेयर पर की गई थी। इस इश्यू के लिए एक लॉट में 65 शेयरों को रखा गया था। ऐसे में एक निवेशक को इस आईपीओ में आवेदन करने के लिए 1,94,350 रुपये का निवेश करना पड़ा। यदि कोई आवंटी इस मल्टीबैगर आईपीओ में लिस्टिंग के बाद की अवधि से अब तक अपने निवेश को बनाए रहता, तो उसका 1,94,350  आज ढ़ाई महीने बाद ही 5.54 लाख हो जाता।

रूस-यूक्रेन जंग का मिला फायदा
रूस और यूक्रेन की जंग से अडानी विल्मर के शेयरों को फायदा मिला है। बाजार जानकारों की मानें तो यूक्रेन संकट के चलते भारत में सूरजमुखी तेल (Sunflower oil) के आयात प्रभावित हुए हैं जिससे अंततः सूरजमुखी तेल की कीमतों में बढ़ोतरी हुई है और डिमांड बढ़ी है। ऐसे में अडानी विल्मर को सबसे ज्यादा फायदा हुआ है क्योंकि भारत में खाद्य तेल बाजार में यह सबसे बड़ा प्लेयर है। अडानी विल्मर के पास बेहद मजबूत डिलिवरी नेटवर्क है और कंपनी इसे अगले 3-4 सालों में और विस्तार करने की योजना बना रही है। 
 750 रुपये पर पहुंच सकता है शेयर
कंपनी के सभी पॉजिटिव कारकों को देखते हुए घरेलू ब्रोकरेज हाउस अडानी विल्मर के शेयरों पर बुलिश हैं और इसे BUY रेटिंग दी है। IIFL सिक्योरिटीज के प्रमुख अनुज गुप्ता ने इस शेयर को 700 से 750 रुपये के टारगेट के साथ खरीदने की सिफारिश की है। ब्रोकरेज फर्म के मुताबिक,  530 रुपये के Toploss पर इसे खरीदा जा सकता है।

यह भी पढ़ें- राकेश झुनझुनवाला के पोर्टफोलियो में शामिल यह स्टॉक जाएगा ₹390 के पार, अभी दांव लगाने से बड़ा मुनाफा

कंपनी का कारोबार
अडानी विल्मर, गौतम अडानी के नेतृत्व वाले ग्रुप अडानी ग्रुप और सिंगापुर के विल्मर समूह के बीच 50:50 की जॉइंट वेंचर कंपनी है। कंपनी फॉर्च्यून ब्रांड के तहत खाना पकाने के तेल बेचती है। खाना पकाने के तेल के अलावा यह चावल, गेहूं का आटा और चीनी जैसे खाद्य उत्पाद बेचता है। यह साबुन, हैंडवाश और सैनिटाइज़र जैसे गैर-खाद्य उत्पाद भी बेचता है। 

(Disclaimer: यह जानकारी शेयर परफार्मेंस के आधार पर दी गई है और स्टॉक में निवेश की सलाह ब्रोकरेज हाउस के द्वारा दी गई है। बाजार में जोखिम होते हैं, इसलिए निवेश के पहले एक्सपर्ट की राय लें।)  

RELATED ARTICLES

Most Popular